दोस्ती शायरी (Friendship Shayari)

दोस्ती अच्छी हो तो रंग़ लाती है
दोस्ती गहरी हो तो सबको भाती है
दोस्ती नादान हो तो टूट जाती है
पर अगर दोस्ती अपने जैसी हो
तो इतिहास बनाती है

जान है मुझको ज़िन्दगी से प्यारी
जान के लिये कर दूँ कुरबान यारी
जान के लिये तोड दूँ दोस्ती तुम्हारी
अब तुमसे क्या छुपाना
तुम ही तो हो जान हमारी

तुमसे दूरी का एहसास सताने लगा
तेरे साथ गुज़ारा हर लम्हा याद आने लगा
जब भी तुझे भूलने की कोशिश की ए दोस्त
तू दिल के और भी करीब आने लगा

ज़िन्दगी नही हमे दोस्तो से प्यारी
दोस्तो पे हाज़िर है जान हमारी
आंखो मे हमारी आंसू है तो क्या
जान से भी प्यारी है मुस्कान तुम्हारी

जसबाते इश्क़ नाकाम होने देंगे
दिल की दुनियाँ मे कभी शाम ना होने देंगे
दोस्ती का हर इल्ज़ाम अपने सर ले लेंग़े
पर दोस्त हम तुम्हे बदनाम ना होने देंगे

दोस्ती तो सिर्फ एक इतेफाक़ है
ये तो दिलो की मुलाकात है
दोस्ती नही देखती ये दिन है की रात है
इसमे तो सिर्फ वफादारी और जज़्बात है

दोस्त एक साहिल है तुफानो के लिये
दोस्त एक आईना है अरमानो के लिये
दोस्त एक मेहफिल है अंजानो के लिये
दोस्ती एक ख्वाहिश है आप जैसे दोस्त को पाने के लिये

राते गुमनाम होती है
दिन किसी के नाम होता है
हम ज़िन्दगी कुछ इस तरह जीते है
कि हर लम्हा दोस्तो के नाम होता है

तुझे देखे बिना तेरी तस्वीर बना सकता हूँ
तुझसे मिले बिना मेरा हाल बता सकता हूँ
है मेरी दोस्ती मे इतना दम
अपनी आंख का आंसू तेरी आंख से गिर सकता हूँ

ए दोस्त तेरी दोस्ती उस घडी तडपायेगी
जब ज़िन्दगी कहेगी अलविदा, और मौत भी ना आयेगी
Posted By : Vignesh Prabhu
Posted On : Sep 15, 2005
Views : 246966
Previous Shayari : Sade Like Sewa
Next Shayari : दोस्ती इतनी गहरी हो जाये

Sher - O - Shayari by category

» Bewafai » Friendship » Funny
» Hate » Love » Miscellaneous
» Motivational » Nature » Ocassion Based
» Patriotic » Relationships » Romantic
» Sad » SMS » Tareef
» Zindagi